This website your browser does not support. Please upgrade your browser Or Use google Crome
';
नयी घोषणाएं
अन्य लिंक्स
जैव सूचना विज्ञान
वो दिन चले गए जब सभी भारी जैव प्रौद्योगिकीय परिकलन हाथ से करने पड़ते थे। और उसके लिए…. हमें भारत के कीर्तिवान वैज्ञानिक जी.एन. रामचंद्रन और उनके सहकर्मियों का आभारी होना चाहिए।

जैव सूचना विज्ञान एवं अंतर्विषयी विज्ञान क्षेत्र हैं, जिसमें जीवविज्ञानी आंकड़ों का संकलन, पुनःप्राप्ति संगठन एवं विश्लेषण किया जाता है। जैव सूचना विज्ञान का एक मुख्य कार्यकलाप उपयोगी जीव वैज्ञानिक ज्ञान पैदा करने हेतु सॉफ्टवेयर उपकरणों का विकास करना है।

भौतिकविद रामचंद्रन जिन्हें व्यापक रूप से नोबेल पुरस्कार की क्षमता का वैज्ञानिक माना जाता है भारतीय जैव सूचना विज्ञान के विधाता थे।
जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) की स्थापना 1986 में हुई और अगले ही वर्ष से इसमें जैव सूचना विज्ञान पर कार्य आरंभ हो गया।

जिन विभिन्न क्षेत्रों में डीबीटी की जैव सूचना विज्ञान संबंधी गतिविधियां फैल गई हैं वे हैं :

बीटीआईएस एनईटी के संबंध में और अधिक जानकारी के लिए www.btisnet.gov.in पर जाइए।

संपर्क

सलाहकार
डॉ.टी मदन मोहन
ईमेल: madhan[dot]dbt[at]nic[dot]in
टेलिफोन: 011-24362788

कार्यक्रम अधिकारी
डॉ. गुलशन वाधवा
ईमेल: Gulshan[dot]dbt[at]nic[dot]in
टेलिफोन: 011-24369612